EntertainmentIndiaLatest NewsSportsUttarakhand

मां को Surprise करना चाहते थे क्रिकेटर पंत, 150 KM की स्पीड से मर्सिडीज भिड़ी तो खुद हुए Shock

रूड़की. इंडियन क्रिकेट टीम के खिलाड़ी ऋषभ पंत शुक्रवार सुबह सड़क हादसे का शिकार हो गए। गनीमत रही कि जान बच गई। बताया जा रहा है कि 150 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से उनकी मर्सिडीज कार रोड की सेफ्टी वाल से टकरा गई। इसके बाद इसमें आग लग गई। ऋषभ कार की खिड़की तोड़कर खुद ही बाहर निकले और जब लोग घटनास्थल पर पहुंचे तो उन्हें अपनी पहचान बताई। कहा-मैं ऋषभ पंत हूं। पहले उन्हें रूड़की में अस्पताल में पहुंचाया गया और फिर यहां से देहरादून भेज दिया गया। उन्हें सिर, पीठ और पैर में गंभीर चोटें आई हैं। डॉक्टर्स के मुताबिक फिलहाल ऋषभ की हालत खतरे से बाहर है, लेकिन अगर किसी भी तरह की कोई आपात स्थिति बनी तो उन्हें देहरादून से दिल्ली भी एयरलिफ्ट भी किया जा सकता है।

हादसा शुक्रवार सुबह साढ़े 5 बजे रूड़की के नारसन बॉर्डर पर हम्मदपुर झाल के मोड़ पर हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार 25 वर्षीय क्रिकेटर ऋषभ पंत अपनी मर्सिडीज कार DL10CN1717 को खुद ही ड्राइव करते हुए घर के लिए निकले थे। पंत का घर रूड़की रेलवे स्टेशन के पास है। वह अपनी मां को सरप्राइज देने के लिए जा रहे थे। अचानक नींद की एक झपकी लगी और इसके बाद 150 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से कार बेकाबू होकर रोड की सेफ्टी वाल से जा टकराई। कार 200 मीटर तक घिसटते चली गई। यह जगह पंत के घर से सिर्फ 10 किलोमीटर दूर है। हादसे के बाद पलट गई ऋषभ की कार में पलक झपकते ही आग लग गई। पंत जलती हुई कार की खिड़की तोड़कर खुद ही बाहर निकले। बचाने पहुंचे लोगों से बोले-मैं ऋषभ पंत हूं।

उन्हें इलाज के लिए रूड़की से देहरादून ले जाया गया है। यहां के मैक्स हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है। डॉक्टर की एक टीम उनकी निगरानी कर रही है। उन्हें सिर, पीठ और पैर में गंभीर चोटें आई हैं। डॉक्टरों के मुताबिक उनकी हालत खतरे से बाहर है। सक्षम हॉस्पिटल के चेयरमैन और ऑर्थोपैडिक सर्जन डॉक्टर सुशील नागर ने बताया कि MRI के बाद ही पता चलेगा कि उनके घुटने में कौन सी हड्‌डी टूटी है। पंत को ऑपरेशन की जरूरत भी पड़ सकती है। इसके बाद पता चलेगा कि वह कब तक खेल पाएंगे। ऐसा कहा जा रहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें दिल्ली एयरलिफ्ट किया जाएगा। डॉक्टर सुशील नागर ने बताया कि सीट बैल्ट नहीं पहने होने के कारण वह सुरक्षित बाहर आ पाए। अगर सीट बैल्ट लगा रखी होती तो कार में आग लगने के बाद वह झुलस सकते थे।

इस बारे में क्रिकेट बोर्ड के सचिव जय शाह का कहना है कि पंत के माथे पर दो चोटें आईं हैं। घुटने का लिगामेंट टूटा है। दाहिनी कलाई और एड़ी में भी चोट पहुंची हैं। एमआरआई के बाद उनकी चोट की गंभीरता का पता चल सकेगा। हम लगातार मैडिकल टीम और उनकी फैमिली के संपर्क में हैं। इस मुश्किल समय में हम पंत को हरसंभव मैडिकल ट्रीटमेंट और मदद देंगे। उधर उत्तराखंड DG अशोक कुमार के मुताबिक एक्सीडैंट के बाद पंत जलती हुई कार की खिड़की तोड़कर बाहर निकले थे।

दूसरी ओर सूत्रों के मुताबिक जानकारी यह भी है कि ऋषभ की गाड़ी में करीब तीन से चार लाख रुपए थे। घटना के बाद सारे रुपए सड़क पर बिखरे पड़े थे। वे वहां तड़पते रहे लेकिन इस दौरान कुछ लोग ऋषभ की मदद करने के बजाय नोट अपनी जेबों में भरने और वीडियो बनाने में मशगूल हो गए।

Show More

Related Articles

Back to top button
ataşehir escortjojobet güncel girişbetturkeypashagamingjojobetataşehir escortjojobet güncel girişbetturkeypashagamingjojobet
poodleköpek ilanlarıantika alanlarPlak alanlarantika eşya alanlarAntika mobilya alanlarfree cheatspoodleköpek ilanlarıantika alanlarPlak alanlarantika eşya alanlarAntika mobilya alanlarfree cheats