Delhi NCRHimachal PradeshIndiaLatest NewsPoliticsPunjab

Cantonment Board Elections: फिरोजपुर समेत देश की 57 छावनियों में नहीं होंगे चुनाव, 14 फरवरी के नोटिफिकेशन को रद्द कर रक्षा मंत्रालय ने नया किया जारी

  • 14 फरवरी को जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक 30 अप्रैल को देशभर की 57 छावनियों में चुनाव करवाने हुए थे तय

  • हिमाचल प्रदेश छावनी वैलफेयर एसोसिएशन रविवार को डगशाई में विजय रैली निकालेगी

  • फिरोजपुर छावनी बोर्ड में मनोनीत राजनैतिक सदस्य एडवोकेट योगेश गुप्ता और भाजपा के मंडल के प्रधान इंदर गुप्ता ने भी जताई खुशी

नई दिल्ली/शिमला/फिरोजपुर. भारतीय रक्षा मंत्रालय ने देश की 57 छावनियों में होने वाले बोर्ड के चुनाव रद्द करने का ऐलान किया है। इससे हिमाचल प्रदेश की 6 छावनियों और पंजाब की फिरोजपुर छावनी के लोगों में ही नहीं, बल्कि मौजूदा समय में बैठे सरकारी मनोनीत सदस्यों में खुशी का माहौल है। हिमाचल प्रदेश छावनी वैलफेयर एसोसिएशन रविवार को डगशाई में विजय रैली निकालेगी। दूसरी ओर पंजाब के फिरोजपुर छावनी बोर्ड में मनोनीत राजनैतिक सदस्य एडवोकेट योगेश गुप्ता और भारतीय जनता पार्टी के फिरोजपुर छावनी मंडल के प्रधान इंदर गुप्ता ने भी इस पर खुशी जताई है।

दरअसल, इस बात पर लंबे समय से जोर दिया जा रहा था कि अगर चुनाव करवाने हैं तो पहले कैंटोनमेंट बोर्ड एरिया को सिविल एरिया में मर्ज किया जाए, उसके बाद चुनाव करवाए जाएं। हालांकि इस मांग को माने जाने को लेकर संशय था और इसी संशय के बीच 14 फरवरी को रक्षा मंत्रालय ने छावनियों में चुनाव करवाने की अधिसूचना जारी कर दी थी। इस अधिसूचना के मुताबिक 30 अप्रैल को  देशभर की 57 छावनियों में चुनाव करवाने तय किए गए थे। इसी सप्ताह से चुनाव प्रक्रिया शुरू भी हो गई थी। अब लोगों के विरोध के बीच रक्षा मंत्रालय ने चुनाव रद्द कर दिए हैं। इसके लिए शुक्रवार को रक्षा मंत्रालय के संयुक्त सचिव राकेश मित्तल ने अधिसूचना जारी कर दी है।

अब रक्षा मंत्रालय के नए फैसले के बाद छावनियों में चल रही चुनाव प्रक्रिया भी रोक दी जाएगी। वहीं छावनी के लोगों में ही नहीं, बल्कि मौजूदा समय में बैठे सरकारी मनोनीत सदस्यों में खुशी का माहौल है। माना जा रहा है कि देश के अलग-अलग राज्यों में चुनाव के विरोध में हो रहे प्रदर्शन भी अब थम जाएंगे।

हिमाचल के छावनी क्षेत्रों में सोलन जिले में सुबाथू, कसौली और डगशाई, चंबा में डलहौजी और बकलोह, शिमला में जतोग, जबकि कांगड़ा में योल छावनी से नागरिक क्षेत्र को बाहर कर दिया है। हिमाचल प्रदेश के छावनी वैलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष राजकुमार सिंगला, कार्यवाहक अध्यक्ष देवेंद्र शर्मा, उपाध्यक्ष मनीष शर्मा, महासचिव मनमोहन शर्मा, मुख्य सलाहकार सुभाष शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिह, रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट का आभार जताया है। उन्होंने बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री से छावनी मुक्त भारत की मांग की और छावनी के सिविल क्षेत्रों को बाहर करने की प्रक्रिया फिर शुरू करने की मांग उठाई।

फिरोजपुर छावनी के नेताओं ने भी जताई खुशी

उधर, पंजाब के फिरोजपुर में कैंटोनमैंट बोर्ड के मनोनीत राजनैतिक सदस्य एडवोकेट योगेश गुप्ता और भारतीय जनता पार्टी के फिरोजपुर छावनी मंडल प्रधान इंदर गुप्ता ने भी इसे छावनी के लोगों की जीत बताया है। नेताओं की तरफ से रक्षा मंत्रालय का अधिसूचना पत्र सोशल मीडिया पर डालने के साथ लिखा गया है, ‘सभी छावनी निवासियों के लिए यह बहुत ही खुशी की बात है कि कैंटोनमेंट बोर्ड के चुनाव रद्द हो गई हैं। जो नॉमिनेटेड मैंबर है, उन्होंने ऐतराज जताया था कि अगर चुनाव करवाने हैं तो पहले कैंटोनमेंट बोर्ड एरिया को सिविल एरिया में मर्ज करो, उसके बाद चुनाव करवाए जाएं। अगर भगवान ने चाहा तो ऐसा ही होगा’।

Show More

Related Articles

Back to top button
ataşehir escortjojobet güncel girişbetturkeypashagamingjojobetataşehir escortjojobet güncel girişbetturkeypashagamingjojobet
poodleköpek ilanlarıantika alanlarPlak alanlarantika eşya alanlarAntika mobilya alanlarfree cheatspoodleköpek ilanlarıantika alanlarPlak alanlarantika eşya alanlarAntika mobilya alanlarfree cheats